आपकी गाड़ी रोके पुलिस तो फौरन करें ये काम, फिर कुछ नहीं बिगड़ेगा आपका

0
29
समाज में कई लोग हैं जो पुलिस से बहस करना अपनी बेइज्जती समझते हैं. वैसे तो पुलिस से बहस करना भी नहीं चाहिए, क्योंकि उन्हें आपकी सुरक्षा के लिए रखा गया है और अगर वो सुरक्षा के वक्त शक होने पर तालश के बहाने आपसे बदतमीजी करते हैं तो आप बिना बहस से उनके निपट सकते हैं. जानिए कैसे…
गाड़ी रोकने पर पहले पुलिस लाइसेंस और आरसी मांगती है तो उसे बिना किसी बहस के दिखाएं क्योंकि ये कानून का नियम है और आपको इसका पालन करना जरूरी है. नियम तोड़ने पर आपसे चालान की भरने को कहा जायेगा, आप पैसे देकर मामले को निपटाएं और अगर पैसे नहीं हैं तो आप पुलिस से कहे सकते हैं कि कोर्ट में जाकर चालान भर देंगे.उनसे किसी भी तरह की बदतमीजी या किसी तरह का झगडा न करे क्योंकि इससे पुलिस को आपको अरेस्ट करने का अधिकार मिल जाता है. अगर पुलिस आपकी तलाशी लेना चाहती है तो इसे अपने विवेक पर छोड़ दे.

आपकी इच्छा पर निर्भर करता है कि आप पुलिस को अनुमति देते है या फिर नही, अगर आपको लगता है कि ये सही नही है तो आप पुलिस से सर्च वारंट दिखाने को कहे. जब आप सर्च वारंट दिखाने को कहेंगे तो पुलिस खुद ही पीछे हट जायेगी. अगर पुलिस का व्यवहार अच्छा है और आप कम्फर्टेबल है तो उन्हें चेकिंग कर लेने दीजिये क्योंकि जो चीजे प्रेम व्यवहार से निपट जाती है तो उसमे लीगल होने की जरूरत ही नही है.

अगर किसी कारण से पुलिस आपको थाने चलने को या फिर कुछ और करने को कहती है तो सबसे पहले अपने वकील से बात करके उन्हें पूरी घटना की जानकारी दे और उन्हें उचित स्टेप उनके विवेक के आधार पर ले लेने की छूट दे दे. अगर आप इन सभी चीजो का ध्यान गाडी चलाते समय रखते है तो आपको कोई भी किसी भी तरह की परेशानी नही होगी.

LEAVE A REPLY