सावधान! 54 बच्चों को लीलने के बाद अब इन महिलाओं पर लीची से पड़ सकता है खतरनाक असर

0
111

गर्मियों का पसंदीदा फल लीची जहां कई बीमारियों के लिए फायदेमंद होता है तो वहीं बिहार में लीची 54 बच्चों के लिए काल बन गई. खाली पेट लीची खाने से बच्चे अक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम की चपेट में आए और उनकी मौत हो गई. बच्चों में लिवर और मसल्स में ग्लाइकोजन-ग्लूकोज की स्टोरेज बहुत कम होती है इसलिए इस सिंड्रोम की चपेट में बच्चे आये. जांच में पाया गया है कि मुजफ्फरपुर में ज्यादातर बच्चे शाम को खाना खाते और सुबह नाश्ते की बजाये उन्हें खाली पेट लीची खाने को मिल जाती है, जिसे वो भरपेट खा लेते हैं. ऐसे में अधिकारियों में उन माता-पिता से विनती की है कि खाली पेट बच्चों को लीची ना खिलाएं.

वाकई में उन माता-पिता को समझना बेहद मुश्किल है कि लीची की वजह से उनके बच्चे अब दुनिया में नहीं रहे हैं. ये बच्चे सिर्फ और बच्चों को ही नहीं सतर्क करके गये हैं बल्कि और भी लोगों को भी सतर्क कर गये हैं, जानिए और किन लोगों के लिए लीची खतरनाक साबित हो सकती है.

ब्लड प्रेशर वाले लोग लीची से बिल्कुल दूरी बनाएं. लीची में प्राकृतिक रूप से पाए जाने वाले पदार्थ जिन्हें hypoglycin A और methylenecyclopropylglycine (MPCG) कहा जाता है , शरीर में फैटी ऐसिड मेटाबॉलिज़म बनने में रुकावट पैदा करते हैं इसकी वजह से ही ब्लड-शुगर लो लेवल में चला जाता है.

ज्यादा लीची खाने से नाक से खून और सिर दर्द होने लगता है, इसके अलावा डायबिटीज के मरीजों को लीची बिल्कुल भी नहीं खानी चाहिए, क्योंकि लीची में ज्यादा मात्रा में शुगर होती है.

लीची गर्मियों का फल है लेकिन अगर बारिश में लीची खा रहे हैं तो आपको नुकसान हो सकता है, क्योंकि बारिश के दिनों में लीची में कीड़े पड़ने लगते हैं जो आसानी से दिखाई नहीं देते हैं. ये कीड़े दिमाग पर बुरा असर डाल सकते हैं.

गर्भवती और स्‍तनपान कराने वाली महिलाओं को लीची का सेवन करने से बचना चाहिए. यह उन्‍हें और उनके बच्‍चों को संक्रमित कर सकता है.

LEAVE A REPLY