बहन की मौत के बाद बुजुर्ग भाई ने कुछ इस तरह त्यागे प्राण लेकिन घर के बाहर कदम नहीं रखा, वजह भावुक कर देगी

0
34

भाई-बहन का रिश्ता हो या फिर मां-बेटे का रिश्ता हो… कोई रिश्ता ऐसा नहीं बचा है जिस पर भरोसा किया जाये, लेकिन आज ऐसे भाई-बहन का मामला सामने आया है जिसे सुनने के बाद हर किसी की आंखों से आंसू आ जायेंगे. अक्सर लोगों को अपनी पुरानी चीजों से बहुत प्यार होता है ऐसे ही इन बुजुर्ग भाई-बहन को अपने पुराने घर से बहुत प्यार था. इन्हें इतना प्यार था कि वो कभी इस घर को छोड़ते ही नहीं थे. भाई तो कभी अपने घर से बाहर कदम नहीं निकालता था. ये लोग पड़ोसियों से भी कोई मतलब नहीं रखते थे बस अपनी ही दुनिया में मग्न रहते थे.

दिल्ली के भारत नगर में रहने वाले ये बुजुर्ग भाई-बहन सिर्फ आनंद विहार में रहने वाले अपने भाई और भतीजे से फोन पर बात करते थे. उसके अलावा इनका कहीं आना-जाना नहीं था. पड़ोसियों ने बताया कि बहन ही घर के बाहर से सामान लाती थी लेकिन भाई का चेहरा तो कभी नहीं दिखता था. दरवाजे पर दूध भी बहन लेने आती थी.

एक दिन दूध वाला दूध देने आया और वो काफी देर तक दरवाजा खटखटाता रहा लेकिन कोई आवाज ना आने पर दूध वाला वापस चला गया. तीसरे दिन आया तब तक वहीं हाल था जिसके बाद पड़ोसियों ने पुलिस को जानकारी दी और देखा कि घर के अंदर दोनों भाई-बहन के शव पड़े थे. घर के लाइट पंखे जब चालू थे यहां तक बहन का फोन भी चार्जिंग पर लगा था.

पुलिस का कहना है कि कोई सामान भी नहीं बिखरा पड़ा था कि जिससे हत्या पर शक किया जाये. ना ही किसी के आने-जाने की खबर. सोचने वाली बात तो ये थी कि दोनों की मौत कैसे हो गई. पोस्टमार्टम रिपोर्ट में पता चला कि बहन के शव में कोई चोट के निशान नहीं सुरक्षित था लेकिन भाई की मौत से पता चला कि उसने कई दिन तक पानी नहीं पिया खाना नहीं खाया और गर्मी की वजह से उसकी मौत हो गई. अंदाजा लगाया जा सकता है बहन की मौत के बाद भाई खाना-पीना और गर्मी की वजह से मौत हो गई.

LEAVE A REPLY