उत्तराखंड- धर्मशाला की खुदाई के वक्त निकली ये खास मूर्तियां, दूर-दूर से लोग दर्शन के लिए पहुंच रहे हैं

0
43
उत्तराखंड को ऐसे ही नहीं देवभूमि कहा जाता है बल्कि यहां चारोधाम और चक्रवर्ती सम्राटरों की साधनास्थली आज भी अश्वमेघ यज्ञ के सबूत बिखरे मिलते हैं. यहां अक्सर खुदाई के दौरान हैरान कर देने वाली चीजें निकलती रहती हैं. इस बार भी पिथौरागढ़ में एक धर्मशाला की खुदाई की गई. इस खुदाई में सैकड़ों साल पुरानी नृसिंह की प्रतिमा देखी गई. इसे ऐतिहासिक दृष्टि से देखें तो ये खुद में एक महत्वपूर्ण खोज है, जो कि अनायास ही हो गई.
बताया जा रहा है कि रामगंगा घाटी में मुवानी के मायल गांव में देवी मंदिर की धर्मशाला बनाने के लिए खुदाई की जा रही थी और इसी खुदाई में भगवान नृसिंह की प्रतिमा प्राप्त हुई. ये मूर्ति नौवीं शताब्दी की बताई जा रही है. प्रतिमा ग्रेनाइट पत्थर से बनी है भगवान नृसिंह की प्रतिमा देखने के लिए दूर-दूर से लोगों की भीड़ लग रही है. कई लोग इसे ईश्वर का चमत्कार भी मान रहे हैं.

लोगों ने इस बड़ा चमत्कार मानते हुए मूर्तियों को सुरक्षित और साफ स्थान पर रख दिया है. मूर्तियों के जो चित्र पुरातत्व विभाग अल्मोड़ा को भेजे गए हैं, उन्हें देखकर पुरातत्ववेत्ताओं ने कहा है कि ये प्रतिमाएं नौंवी शताब्दी की हैं. जल्द ही विभाग की एक टीम गांव में जाकर उस जगह का निरीक्षण करेगी, जहां ये मूर्तियां मिली हैं प्रतिमाओं को पिथौरागढ़ के म्यूजियम में रखा जाएगा.

LEAVE A REPLY