महिला के शरीर में जाकर क्या करती है पीरियड्स टालने वाली गोली, जान लेंगी तो कभी न खाएंगी

0
36

12 से 13 उम्र के बाद अगर लड़कियों के पीरियड्स नहीं शुरु होते हैं, 2-3 महीने के लिए पीरियड्स का आगे टल जाना, हैवी ब्लीडिंग होना जैसी कई परेशानियों के लिए लड़कियों को कुछ दवाईयां दी जाती हैं, या फिर कभी-कभी महिलाएं पूजा में शामिल होने और यात्रा पर जाने के लिए पीरियड्स टालने वाली गोलियां खाती हैं. उस वक्त वो गोलियां महिलाओं की समस्या तो हल कर देती हैं लेकिन बाद में जो शरीर में दिखाई देता है वो वाकई में खतरनाक होते हैं.

अगर लगातार पीरियड्स टालने वाली गोलियां खा रही हैं तो इससे शरीर में दाग-धब्बे और मुंहासे आने लगते हैं, कई बार महिलाओं के शरीर में लाल चकत्ते भी दिखाई देने लगते हैं. यूट्स में फिब्रोइड, सिस्ट या गठान और कैंसर का भी खतरा बढ़ सकता है.

गोली खाने के अगले महीने हैवी ब्लीडिंग और दो पीरियड्स के बीच ब्लीडिंग हो सकती है. कई बार इन गोलियों की वजह से ब्रैस्ट में भारीपन और दर्द शुरु हो जाता है, और सूजन और गठान भी महसूस होने लगती है.

गोलियों से थकान और चिड़चिड़ापन, शरीर में अनचाहें बालों की वृद्धि होने लगती है, कई बार चेहरे पर भी अनचाहे बाल आने लग जाते हैं. हाथ-पैरों में सूजन आने लगती है.

LEAVE A REPLY