अच्छा प्रदर्शन ना करने पर भारतीय टीम से हमेशा के लिए बाहर हुए ये 2 लोग, BCCI ने रोकने की भी…

0
368

आईसीसी विश्व कप खत्म होने के बाद देश-विदेश के कई खिलाड़ी क्रिकेट से संन्यास लेने को तैयार थे और इसकी शुरुआत भी लगभग शुरु हो गई है. इस लिस्ट में अभी तक महेंद्र सिंह धोनी का नाम लिया जा रहा था लेकिन उससे पहले टीम इंडिया के 2 सपोर्ट स्टाफ ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है. ये हैं टीम इंडिया के फीजियो पैट्रिक फरहार्ट और टीम के फिटनेस कोच शंकर बासु. अब टीम इंडिया को कोचिंग स्टाफ के इन दो अहम सदस्यों की सेवाएं नहीं मिलेंगी, हालांकि इन्हें बीसीसीआई ने रुकने के लिए भी कहा लेकिन इन्होंने साफ मना कर दिया.

ये दोनों ही कैमरे के पीछे रहते हैं लेकिन काम की बहुत तारीफ की जाती है. विराट की इन दोनों के साथ अच्छी वॉडिंग है. यहां तक कि विराट अपनी फिटनेस का श्रेय शंकर बासु को ही देते हैं. शंकर बासु ने ही भारतीय क्रिकेटरों के लिए यो-यो टेस्ट पास करना अनिवार्य किया था. बासु आईपीएल टीम रॉयल चैलेंजर्स बंगलोर का भी हिस्सा रहे हैं. जबकि विराट इस टीम के कप्तान हैं.

दरअसल पैट्रिक फरहार्ट को वर्ल्ड कप तक ही कॉन्ट्रैक्ट मिला था लेकिन बाद में बीसीसीआई ने कॉन्ट्रैक्ट को आगे बढ़ाने की बात कही लेकिन फीजियो पैट्रिक फरहार्ट ने इसे आगे बढ़ाने की इच्छा नहीं जताई. पैट्रिक ने ट्वीट पर जानकारी देते हुए लिखा- भारतीय टीम के साथ आज मेरा आखिरी दिन था, हम उस तरह का प्रदर्शन नहीं कर पाया जैसा मैंने चाह. मैं बीसीसीआई का शुक्रिया करना चाहता हूं, जिन्होंने मुझे भारतीय टीम के साथ 4 साल तक काम करने का मौका दिया. भारतीय टीम और सपोर्ट स्टॉफ को मैं आगे के सफर के लिए अपनी शुभकामनाएं देना चाहता हूं.’

वहीं शंकर बासु ने वर्ल्ड कप के बाद टीम से अलग होने पर कहा है कि वे कुछ समय के लिए ब्रेक चाहते हैं. दोनों ने इसे लेकर टीम मैनेजमेंट को जानकारी दे दी है.

 

LEAVE A REPLY