सावधान! कहीं आप तो नहीं अपने बेबी को ऐसा खाना खिलाकर उनके साथ कर रहीं धोखा, बेबी फूड को लेकर चौंकाने वाला खुलासा

0
36

नवजात शिशु को जन्म देने के बाद अक्सर लोगों के मन में उनके खाने-पीने को लेकर चिंता होती है. हालांकि उस वक्त बेबी के लिए मां का दूध की काफी होता है, लेकिन फिर भी मां को ऐसा लगता है कि कहीं उसका बच्चा भूखा तो नहीं रहता है या फिर कभी-कभी ऐसा भी मन में आता है कि बेबी को दूध के अलावा भी कुछ ऐसा खिलाना चाहिए जिससे उसके शरीर को कुछ पौष्टिक आहार मिल सके. वैसे तो 5 महीने तक बेबी सिर्फ मां का दूध ही पीता है और 6 महीने बाद उसके कुछ हल्का ठोस आहार देना शुरु हो जाता है और बेबी ठोस आहार लेना शुरु कर देता है तो बाजार में कई तरह के बेबी फूड और ड्रिंक आने लगते हैं. माता-पिता उन्हें ये सारे फूड और ड्रिंक खिला-पिलाकर खुश होते हैं लेकिन शायद आपको नहीं पता होगा कि बाजार में बिकने वाले बेबी फूड बच्चों के लिए कितने ज्यादा हानिकारक हैं.

आज कल की बिजी लाइफ के चलते ज्यादातर मां अपने बेबी के लिए घर में खाना नहीं तैयार कर पाती हैं. ऐसे में कई मां बाहर के ब्रांडेड बेबी फूड्स और ड्रिंक घर में स्टॉक में रखती हैं. ऐसे में अगर आप भी अपने बेबी के लिए ऐसा ही कुछ प्लान करती हैं तो एक बात जरूर जान लीजिए कि बेबी फूड में मौजूद एडड शुगर और मीठा फ्लेवर उम्र बढ़ाने के साथ-साथ बच्चों में स्वीट फूड की चाहत को बढ़ा सकता है, जिससे उनमें मोटापे और दांतों की सडन होने का खतरा बढ़ जाता है.

एक रिपोर्ट के मुताबिक करीब 8000 बेबी फूड और ड्रिंक को चेक किया गया जिसमें  ज्यादातर में कैलोरी शुगर पाई गई. देखा जाये तो जिस वक्त बच्चे की उम्र और दिमाग विकास होता है उस वक्त बाजार के ये बेबी फूड उन्हें नुकसान पहुंचाए तो शिशु के लिए ये सोचना का विषय है. ऐसे में मां निवेदन किया जाता है कि वो 6 महीने तक अपने बेबी को स्तनपान कराएं और उसके बाद घर में उनके लिए पौष्टिक आहार तैयार करें.

LEAVE A REPLY