नागपंचमी पर इस 1 उपाय से शिव जी की प्राप्त होगी महान कृपा, कालसर्प दोष से भी मिलेगी मुक्ति

0
116
नागपंचमी के दिनों मंदिरों में नागो पर दूध चढ़ाने से शिव जी का कृपा प्राप्त मिलती है. व्यक्ति के ऊपर से बुरी बाधाओं का सफाया होता है. वहीं इस त्योहार को मनाने के पीछे पर्यावरणीय तर्क यह भी दिया जाता है कि भारत कृषि प्रधान देश है, और चूहे वगैरह से खेती में बहुत नुकसान होता है। नाग चूहों का सफाया करके फसलों की सुरक्षा कर प्रकृति का संतुलन कायम करते हैं.
इस दिन शिवजी की आराधना करने से कालसर्प दोष, पितृदोष का आसानी से निवारण हो जाता है. मान्यता है कि जब- जब भगवान विष्णु ने धरती पर अवतार लिया तब-तब शेषनाग भी अवतरित होकर उनके साथ रहे. इतना ही नहीं भगवान भोलेनाथ के गले के हार और भगवान विष्णु की शैय्या माने जाने वाले नागों की पूजा पौराणिक काल से की जाती है. इस दिन नाग को दूध पिलाने से कालसर्प दोष से मुक्ति मिल सकती है.

LEAVE A REPLY