रॉकेट परीक्षण के दौरान हुए धमाके में अब तक 5 वैज्ञानिकों की मौत, इस एक गलती की वजह से बड़ा नुकसान

1
54

रूस के न्योनोस्का में रॉकेट परीक्षण के दौरान ब्लास्ट हो गया जिसमें पांच परमाणु वैज्ञानिकों ने दुनिया को अलविदा कह दिया है. ये घातक हादसा तब हुआ जब वैज्ञानिक आइसोटोप के जरिए प्रपुल्शन सिस्टम को चलाने का प्रयास कर रहे थे. धमाका इतना तेज हुआ कि टेस्ट साइड नष्ट हो गई और पांच वैज्ञानिकों की मौत हो गई जबकि 9 घायलों का अस्तपाल में इलाज चल रहा है.

बताया जाता है कि इस हादसे के बाद न्योनोस्का से 47 किलोमीटर दूर सेवेरोद्विंस्क शहर में रेडिएशन (Radiation) फैल गया है. रूसी अधिकारी ने बयान जारी कर बताया है कि धमाके बाद सेवेरोद्विंस्क शहर में रेडिएशन स्तर सामान्य से 20 गुना ऊपर पहुंच गया है. धमाका इतना तेज होने की वजह से स्थिति सामान्य होने में करीब 40 मिनट लग गये. टेस्टिंग साइट के पास रहने वाले आर्खनगेल्सक और सेवेरोद्विंस्क शहर के लोग रेडिएशन को लेकर काफी डरे हुए हैं.

 

1 COMMENT

LEAVE A REPLY