उत्तराखंड: रोजी-रोटी पर आये संकट से परेशान पटरी व्यापारी आत्महत्या करने को तैयार, फेसबुक पर लाइव आकर युवक ने पिया जहर और फिर…

1
46
देहरादून में अतिक्रमण को जायज़ ठहराने के बाद मसूरी में अवैध कब्जा किये व्यापारियों के कान तक ये बात पहुंच गई और फिर क्या उन्होंने नगर निगम पहुंचकर जमकर हंगामा किया. कई व्यापारियों ने तो नगर निगम अध्यक्ष पर ही हमला कर दिया. एक महिला ने अध्यक्ष के मुंह पर जूता फेंककर मार दिया था, अभी तक ये मामला शांत भी नहीं हुआ था कि फिर से एक पटरी व्यापारी ने फेसबुक लाइव पर नगर निगम के वादो की धज्जियां उड़ाते हुए फिनायल पी ली. लाइव वीडियो में युवक को फिनायल पीते देख अफरा-तफरी मच गई वहीं मौजूद लोगों ने फौरन ही अंकुर सैनी को अस्पताल पहुंचाया.
पटरी व्यापारी की ऐसी हालत देखकर उसके घर में चीख-पुकार मच गई और मां की तबियत भी बिगड़ गई. जिसके बाद अंकुर की मां को भी भर्ती करवाया गया. फिलहाल दोनों की तबियत अब ठीक है लेकिन रोजी-रोटी को लेकर तनाव में हैं. अंकुर का कहना है कि अध्यक्ष हम सबके साथ फर्जीवाड़ा और धोखे में रखा है. पटरी व्यापारी अपनी रोजी-रोटी से परेशान होकर अब आत्महत्या करने को तैयार हो रहे हैं.
पटरी व्यापारियों का कहना है कि अध्यक्ष बनने से पहले अध्यक्ष ने पटरी व्यापारियों को व्यवस्थित करने का वादा किया था लेकिन 8 महीने से ज्यादा का वक्त हो गया और अभी तक अध्यक्ष कान में उंगली डाले बैठे हैं. बता दें, देहरादून में नगर निगम ने सालों पुराने अवैध कब्ज़े को हटाने के बजाय अवैध कब्ज़ेदारों को उसका कानूनी कब्ज़ा दे दिया तो मसूरी की माल रोड के अवैध कब्ज़ेदारों की हिम्मत बढ़ गई.
वहीं अध्यक्ष गुप्ता का कहना हैं कि ये लोग पश्चिमी उत्तर प्रदेश, नेपाल और न जाने कहां-कहां से आकर साल-दो साल पहले बस गए हैं और अब मसूरी को अपनी जागीर समझने लगे हैं. गुप्ता कहते हैं कि यह ठीक है कि गरीब लोगों को रोज़ी-रोटी का हक़ मिलना चाहिए लेकिन इसका अर्थ यह तो नहीं कि माल रोड पर ही कब्ज़ा करके बैठ जाओ.

1 COMMENT

LEAVE A REPLY