धनतेरस वाले दिन चुपचाप कर ले 13 में से 1 उपाय, छप्पर फाड़ कर होंगी धन की बरसात

13
162

दोस्तों, दीवाली को लेकर साफ-सफाई से लेकर घर की सजावट और इन सबसे ज्यादा लोग खरीदारी को लेकर उत्साहित हो रहे हैं. जैसा कि रोशनी के त्यौहार दीवाली में लोग अपने घर में किसी सामान की खरीदारी भी करते हैं. दीवाली से 2 दिन पहले यानि धनतरेस के खास मौके पर कोई शुभ चीज को खरीदकर लाते हैं. धनतेरस के दिन मृत्यु के देवता यमराज और भगवान धन्वंतरि की पूजा का विशेष महत्व होता है. इस दिन पर भगवान धन्वंतरि अपने हाथ में अमृत कलश लेकर पैदा हुए थे इसलिए इस दिन पर गृस्थी के सामान जैसे बर्तनों से लेकर सोने-चांदी के आभूषण तक खरीदते हैं. इन सब के अलावा इस दिन पर धन्वंतरि को खुश करने के लिए तरह-तरह के उपाय भी करते हैं. यकीनन ये उपाय  व्यक्ति की जिंदगी में कई तरह बदलाव करते हैं.

ज्यादातर लोग सिर्फ छोटी दीवाली और बड़ी दीवाली पर ही घर के मुख्य द्वार पर दीपक जलाकर रखते हैं लेकिन अगर आप सच में माता लक्ष्मी का कृपा चाहते हैं तो धनतेरस अपने मुख्य द्वार पर घी का दीपक जलाकर रखें. प्रदोष काल में यदि यह दीपक लगाया जाता है तो जैसे ही माता लक्ष्मी और भगवान कुबेर की दृष्टि दीपक पर पड़ती है, वह आपके घर में चले आते हैं.

धनतेरस की पूजा वाले दिन एक लाल कपड़े में हरा धनिया और 5 या 7 कमलगट्टे रखकर अच्छी तरह से बांधकर अपने लॉकर या तिजोरी में रख दें. एक साल तक रखने के बाद अगले धनतेरस पर इसे हटाकर दूसरे रख दें. ऐसा करने से घर में कभी पैसों की तंगी नहीं होती है.

आपको 11 बिल्वपत्र लेनी है और उस पर चंदन से श्रीं लिखना है. अब इन बेल पत्रों को माता लक्ष्मी को एक-एक करके आपको अर्पित करना है इससे आपके घर के भंडार सदैव भरे रहेंगे.

इसके बाद आपको कुबेर की प्रसन्नता के लिए भी मंत्र का जाप करना है. इसके लिए ॐ कुबेराय नमः मंत्र का जाप धनतेरस वाले दिन अवश्य करें.

इस दिन रात्रि में आपको हवन करना है। इस हवन में बिल्व फल की आहुति देनी है औरआहुति देते समय महालक्ष्मी मंत्र -“ओम महालक्ष्म्यै नमः” का जाप करना है .

अगले उपाय में दोस्तों धनतेरस वाले दिन आपको एक सिक्का लेना है जिस पर केसर से आप स्वास्तिक बनाइये. अब इस सिक्के को अपनी तिजोरी में रख दीजिए और पूरी साल उसको तिजोरी में जरूर रखिए.

धनतेरस के दिन आपको 7 पान के पत्ते लेने हैं और उन पत्तों पर रोली से स्वास्तिक का निशान बनाना है. अब इन पत्तों को एक-एक करके मां लक्ष्मी को अर्पित कर दीजिए। ऐसा करने से भगवान धन्वंतरी और मां लक्ष्मी की कृपा आपको प्राप्त होगी.

13 COMMENTS

LEAVE A REPLY