उत्तराखंड- खेत से घर लौटी महिला ने 9 साल की बच्ची को इस हालत में देखकर पलंग के नीचे छिपा दिया, पति ने भी दिया साथ

3
95

उत्तराखंड में रुड़की के मंगलौर में एक मासूम बच्ची को गन्ने के खेत में बुरी हालत में देखकर लोगों के रोंगटे खड़े हो गये. 9 साल की बच्ची को कभी अपने पिता से डांट भी नहीं पड़ी थी उस बच्ची के साथ दर्दनाक हमला किया गया. बच्ची के सिर पर इतनी जोर से डंडा मारा गया कि बच्ची एक ही डंडे में जमीन पर गिरकर मर गई. उसके बाद बच्ची को खेत में फेंक दिया गया. एक रात बीतने के बाद बच्ची के पिता ने पुलिस में बच्ची के गायब होने की शिकायत दर्ज करवाई लेकिन जब सच सामने आया तो पड़ोसियों के पैरों तले जमीन खिसक गई.

दरअसल बच्ची पर हमला करने वाला कोई और नहीं बल्कि उसकी ही सगी मां थी. मां ने बच्ची के सिर पर डंडा मारा और सौतेले पिता ने बच्ची को आधी रात में खेत में फेंक दिया. दूसरे दिन जब सौतेले पिता ने पुलिस में गुमशुदगी की शिकायत दर्ज करवाई तो मौके पर पहुंची पुलिस ने सीसीटीवी कैमरे खंगाले लेकिन कुछ सुराग नहीं मिला. जिसके बाद पुलिस ने घटना के बारे में माता-पिता से पूछताछ की तो दोनों के बयान बदले हुए मिले. जिस पर पुलिस को शख्स हो गया और फिर सख्ती से पूछताछ होने पर मां ने अपना गुनाह कबूला.

महिला ने बताया कि वो हर रोज की तरह अपने दूसरे पति के साथ खेत पर काम करने गई थी. अपने दोनों छोटे बच्चों को 9 साल की बेटी परी के साथ घर में देखभाल के लिए छोड़ जाती थी. शाम को जब महिला खेत से काम करके वापस लौटी तो देखा दोनों बच्चे गंदगी पड़े रो रहे थे जबकि परी घर से गायब थी. महिला एक तो थकी थी दूसरा घर में गंदगी में पड़े बच्चों को धुलाने में महिला का गुस्सा और ज्यादा बढ़ गया था.

महिला ने आसपास परी को ढूंढा लेकिन वो कहीं नहीं दिखी और शाम होते बच्ची खुदवा खुद घर लौटी तो महिला ने उसे डराने के लिए उसके सिर पर डंडा मार दिया. एक ही डंडे में बच्ची बेहोश होकर गिर गई. जिसके बाद महिला ने बच्ची को हिलाया-डुलाया लेकिन उसकी आवाज भी नहीं निकली तो महिला ने पलंग के नीचे छिपा दिया. पति के घर आने पर महिला ने पूरी वारदात बताई जिसके पति ने पत्नी को बचाने के लिए बच्ची का शव आधी रात में खेत में फेंक दिया था. गुनाह कबूलने के बाद पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर लिया.

3 COMMENTS

LEAVE A REPLY