RO का पानी पीने वाले मौत को दे रहे बुलावा, वीडियो देखने के बाद RO का पानी पीने से पहले 100 बार सोचेंगे

1
34

आज हर घर में दूषित पाने को पीने से बचने के लिए आरओ लगा हुआ है. पानी में टीडीएस ज्यादा होने पर डॉक्टर भी आरओ का पानी पीने की सलाह देते हैं. आरओ से पानी तो फिलटर हो जाता है लेकिन उसके साथ नुकसान भी बहुत हो रहा है जो ज्यादातर लोगों को नहीं पता होगा. जी हां…जिसे आप स्वस्थ्य पानी समझकर हर रोज पी रहे हैं वो आपके शरीर में कई बीमारियों को बुलावा दे रहा है. सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें दावा किया जा रहा है कि आरओ का पानी पीने वाले लोग सावधान हो जायें. इस पानी को पीने के बाद दिल की समस्या, फेफड़े, हड्डियों की समस्या और मानसिक रूप से गलत प्रभाव पड़ रहा है. ऐसे में अगर आपके घर आरओ लगा है तो बचने के लिए जानकारी जरूर जान लें.

दरअसल वायरल वीडियो में दिखाया जा रहा है कि 4 गिलास में चार तरह के द्रव को रखा गया है. एक में दूध, दूसरे में टंकी यानि सिंपल पानी, तीसरे में आरओ का पानी और चौथे में गौमूत्र रखा गया है. युवक बिजली के यंत्र से इस बात का दावा करता है कि आरओ का पानी सेहत के लिए ठीक नहीं है. युवक का कहना है कि पानी फिलटर होने के बाद उसमें मिनरल्स भी निकल जाते हैं जिनकी कमी से युवक के शरीर पर गलत असर पड़ता है.

इस बन्दे ने तो अच्छे अच्छे लोगो के होश उड़ा दिए जो आज भी होशियारी मारते हैं कि हम तो R O का ही पीते हैंजरा होशियारों को यह vdo सेंड कर बताओ

Posted by Prabhakar Shukla on Saturday, September 1, 2018

जांच के लिए युवक मीटर यंत्र को पहले सिंपल पानी डालता है जिससे बल्ब जलता दिखाई दे रहा है, वहीं उसी मीटर यंत्र को जब वो आरओ पानी में डालता है तो बल्ब नहीं जलता है. उसके बाद वो दूध और गोमूत्र में भी मीटर यंत्र को डालकर इसमें मौजूद मिनरल्स को चेक करता है. इन दोनों में भी मिनरल्स हैं इसलिए बल्ब जल जाता है लेकिन सिर्फ आरओ के पानी में मीटर यंत्र नहीं जलता है.

युवक का कहना है कि पानी में अगर मिनरल्स वगैरा नहीं होंगे तो युवक का शरीर काम करना जल्दी बंद कर देगा क्योंकि हर व्यक्ति के लिए सबसे पहले पानी जरूरी है. ये बात सच भी है कि पानी में अगर मिनरल्स, मैग्निशियम, कैल्शियम, सोडियम, पोटेशियम जैसे महत्वपूर्ण तत्व निकल जायेंगे तो व्यक्ति बीमारियों का शिकार हो जायेगा, लेकिन इसकी वजह ये भी नहीं है कि आरओ का पानी गलत है.

इस वीडियो के बाद आरओ की जांच करवाई गई तब शोध में इस बात का खुलासा हुआ है कि अगर आरओ का टीडीएस का स्तर 70 से 150 के बीच रखें तो किसी भी तरह का खतरा नहीं होता है लेकिन अगर इस टीडीएस स्तर की मात्रा कम या ज्यादा हो जाती है तो व्यक्ति के लिए आरओ का पानी जहर बन जाता है. ऐसे में इस युवक के दावे को शोध ने गलत ठहराया है और सावधान किया है कि अगर आपके आरओ का टीडीएस स्तर ठीक नहीं है तो उसे चेक करके पानी पीएं.

 

1 COMMENT

LEAVE A REPLY