नींद ना आने की समस्या से परेशान थे 53 फीसदी लोग, सेना के जवान ने बताया ऐसा तरीका कि परेशानी हो गई छू मंतर

1
37

मोटापा, पेट संबंधित समस्या, जोड़ों में दर्द जैसी कई परेशानियों में से एक नींद की समस्या भी बन गयी है. हर दूसरा व्यक्ति नींद की समस्या से परेशान हैं. रात को नींद आती नहीं है तो सुबह जल्दी उठना मुश्किल हो जाता है. नींद पूरी ना होने पर व्यक्ति मानसिक रूप से कमजोर होता चला जाता है. व्यक्ति के दिमाग पर नींद का सबसे बुरा असर पड़ता है. ऐसे में हर व्यक्ति के लिए 5 से 6 घंटे नींद बहुत जरूरी होती है. वैसे तो कई लोग नींद की वजह से नींद की गोलियां भी खाने लगे हैं. इन गोलियों से नींद तो सूकून की आती है लेकिन कभी-कभी ये गोलियां ज्यादा खाने की वजह से जानलेवा भी बन जाती हैं. ऐसे में एक नुस्खा सुर्खियों में बना है जिसका परिणाम अमेरिकी सेना पर जाता है. अमेरिकी सेना ने नींद की समस्या से छुटकारा पाने के लिए एक बेहतरीन तरीका निकाला है. जिससे किसी भी व्यक्ति को 120 सेकेंड में नींद आ जायेगी.

बताया जाता है कि अमेरिकी फाइटर पायलट्स नींद ना आने की वजह से बहुत परेशान रहते थे. अमेरिकी फाइटर ने जब इस परेशानी को लोगों को बताया तो अमेरिकी नेवी प्री-फ्लाइट स्कूल ने एक वैज्ञानिक तरीका ढूंढ निकाला. जिससे कोई भी व्यक्ति दिन या रात में सूकून से सो सकता है. इस तरीके को एक किताब में भी जिक्र किया गया है. इस तरीके के लिए अमेरिकी फाइटर पायलट्स को 6 महीने प्रैक्टिस करनी पड़ी. उसके बाद उन्हें नींद की समस्या से निजात मिल गया था.

इस ट्रेनिंग के लिए कुर्सी पर बैठकर सोना सिखाया गया. कुर्सी पर बैठे और आंख बंदकर चेहरे की तरफ ध्यान दें. गहरी-गहरी सांसे ले और सांस छोड़ते वक्त गालों की तरफ ध्यान दें. अपने हाथों को जांघों के बीच रखें और फिर आंखों और गाल और जबड़ों को ढीला छोड़ दें. इस वक्त सिर्फ आप अपने चेहरे के बारे में ही सोचें. इस वक्त आपका शरीर संकेत देता है कि आप रिलेक्स कर रहे हैं.

इसके बाद अब अपने कंधे को धीरे-धीरे ढीला छोड़े, गले के पिछले हिस्से को भी आराम दें. फिर हाथों और उंगलियों को भी ढीला छोड़ दें. हाथ के बाद पैरों को भी जमीन पर टिकाकर धीरे-धीरे ढीला छोड़ दें. उसके बाद दिमाग पर आईए. यहां आपको पूरे दिन हुए किसी भी काम को सोचने की जरूरत नहीं है. एकदम फ्री छोड़ दें, ऐसा महसूस करें कि आप अंधेरे में बैठे हैं.

आप चाहे तो इस प्रक्रिया को बेड पर लेटकर भी कर सकते हैं, और जब कुर्सी पर बैठे तो ऐसा महसूस करें कि आप बेड पर लेटे हैं. किसी भी आवाज को सुनने को जरूरत नहीं, पूरा ध्यान ऐसे लगाएं जैसे आप अंधेरे में हैं.

1 COMMENT

LEAVE A REPLY