इन 5 बातों की वजह से तलाक तक पहुंच जाता है पति-पत्नी का रिश्ता, जिसने पहले ही समझ ली वो रिश्ता जिंदगीभर चलता है

1
49

पति-पत्नी का एक ऐसा रिश्ता ट्रेन की तरह होता है जिसमें इंजन पति होता है तो डिब्बे उसकी पत्नी बनती है और जब इंजन से डिब्बे अलग हो जाते हैं तो सफर कभी पूरा नहीं होता है. ऐसा ही कुछ पति-पत्नी का रिश्ता है जहां लड़ाई-झगड़े आम बात हैं लेकिन इस झगड़े को समझना और सुलझाना बहुत कम पति-पत्नी को आता है. जो पति-पत्नी घरों के छोटे-मोटे झगड़े को एक-साथ सुलझाते हैं वो कभी अलग नहीं होते हैं. कभी-कभी इन झगड़ों की वजह ये 5 बातें भी होती हैं.

दूसरों से बुराईयां करना-

जी हां…अगर आप अपने दोस्तों या सहेलियों से अपने पार्टनर की बुराईयां करते हैं तो बदले में आपको भी बुराईयां ही सुनने को मिलती है. जिसकी वजह से आपके मन में पार्टनर के खिलाफ गुस्सा भर जाता है और फिर बिना-वजह लड़ाईयां होती हैं जिन्हें शांत करवाना मुश्किल हो जाता है, इसलिए अपने पर्सनल झगड़े अपने तक ही रखना चाहिए.

माता-पिता को बीच में नहीं लाना चाहिए-

महिला हो या पुरुष दोनों के लिए उनके माता-पिता सबसे ऊपर होते हैं. कोई भी अपने माता-पिता के खिलाफ कुछ गलत नहीं सुनना चाहता है और जब कोई अपने माता-पिता के बारे में उल्टा-सीधा सुनता है तो वो उस रिश्तें को खत्म कर देना चाहता है.

पिछली बातों को नहीं लाना चाहिए-

पति-पत्नी के बीच लड़ाई-झगड़े होने आम बात है लेकिन अगर इस लड़ाई-झगड़े में आप पिछली बातों को लाते हैं तो लड़ाई शांत होने की वजह बढ़ सकती है. ऐसे में गुस्सा तलाक तक भी पहुंच सकता है.

दोनों में एक को चुप रहना चाहिए-

अगर किसी लड़ाई का मूड है तो दूसरे को चुप्प रहना चाहिए लेकिन इसका मतलब ये भी नहीं कि हर बार चुप रहें. अगर आप हर बार चुप रहकर सुनते रहेंगे तो एक-दूसरे से बोलना बंद कर देंगे और फिर अलग होना तय है.

अपने पार्टनर की तुलना ना करें-

आपका पार्टनर चाहे अच्छा हो या बुरा हो, कभी भी उसकी तुलना किसी से नहीं करना चाहिए. ऐसे में आपके पार्टनर अपने आपको बुरा समझने लगता है और फिर दोनों के बीच आये दिन बहस होने लगती है.

1 COMMENT

LEAVE A REPLY