शादी से पहले हर लड़का-लड़की के लिए ये टेस्ट हो गया जरूरी, वैवाहिक जीवन के लिए बनेगा मुसीबत

1
48

जहां भारत जैसे कई देशों में हर लड़का-लड़की को अपनी मर्जी से शादी करने का अधिकार है. अपनी मर्जी से शादी करने वाले युवाओं पर उनके माता-पिता को भी रोकने का हक नहीं था, वहीं अब सरकार ने इस पर रोक लगा दी है. घबराइये मत, क्योंकि ये रोक भारत में नहीं लगी है, बल्कि इंडोनेशिया देश में लगाई गई है. सरकार के नियमो के मुताबिक शादी करने से पहले लड़का-लड़की को एक टेस्ट पास करना होंगा तभी वो शादी कर सकते हैं. अगर वो इस टेस्ट में फेल हो जाते हैं तो उनसे शादी करने का अधिकार छीन लिया जाएगा.

दरअसल इंडोनेशिया सरकार ने शादी योग्य और शादी के इच्छुक हर लड़के और लड़की के लिए एक कोर्स की घोषणा  की है. इस कोर्स में शादी के इच्छुक युवाओं को दांपत्य जीवन, घर-परिवार की देखभाल और बच्चों की परवरिश की ट्रेनिंग दी जाएगी. तीन महीने के इस कोर्स के पूरे होने के बाद इनका टेस्ट लिया जाएगा. अगर टेस्ट में पास हो जाते हैं तो उन्हें शादी करने का अधिकार दिया जायेगा. इस कोर्स के लिए सरकार सर्टिफिकेट दिया जाएगा.

जैसा कि भारत में शादी के लिए कुंडली का मान्य है उसी तरह इंडोनेशिया में 2020 से शादी के लिए इस सर्टिफिकेट का जरूरी कर दिया जायेगा. जिन लोगों के पास ये सर्टिफिकेट होगा वहीं शादी कर सकते हैं. डोनेशिया की डायरेक्टर जनरल किरना प्रीतसरी के अनुसार, स्वास्थ्य विभाग इससे पहले भी शादी योग्य युवाओं को प्रशिक्षित करता रहा है, लेकिन ऐसा पहली बार हो रहा है, जब सरकारी स्तर पर यह नियम पूरे देश में लागू किया जा रहा है.

वैसे तो शादी की उम्र के वक्त युवा इतने समझदार होते हैं कि वो अपना घर-परिवार की देखभाल कर सकें, लेकिन इंडोनेशिया सरकार ने शादी के लिए युवाओं को और ज्यादा मजबूत बनाने के लिए इस कोर्स की घोषणा की है. सरकार चाहती है कि शादी करने वाले लोग आर्थिक स्थिती में कैसे घर की देखभाल करते हैं वो समझना उनके लिए बहुत जरूरी है. कई बार इन्हीं परेशानियों की वजह से रिश्तें जल्दी टूट जाते हैं और लोग मानसिकता के शिकार हो जाते हैं.

 

1 COMMENT

LEAVE A REPLY