उत्तराखंड की 81 नामी कंपनियां हुई बंद, लापरवाही किये जाने पर सरकार ने लिया ये फैसला

9
117
A sealed lock is seen at the gate of Save the Children charity's office in Islamabad, Pakistan, June 12, 2015. REUTERS/Faisal Mahmood
किसी भी कंपनी को चलाने से पहले उसके नियमों को जानना बहुत जरूरी है वरना उत्तराखंड की 81 कंपनियों की तरह बंद हो सकती हैं. जी हां…उत्तराखंड सरकार द्वारा बंद की गई ये 81 कंपनियां पंजीकृत होने के बाद भी काम का कोई ब्यौरा उपलब्ध नहीं करा पा रही थीं. जिसके बाद तीसरे साल भी मंत्रालय ने ऐसी कंपनियों पर कड़ा रुख लिया है. ब्यौरा उपलब्ध ना कराने वाली ऐसी कंपनियो पर कारपोरेट कार्य मंत्रालय के दून कार्यालय ने ताला लगा दिया है.
कारपोरेट कार्य मंत्रालय के रजिस्ट्रार एवं शासकीय समापन कार्यालय के तहत उत्तराखंड की 7866 कंपनियां पंजीकृत हैं. हर साल इन कंपनियों की जांच पड़ताल होती है. पिछले साल भी 300 से ज्यादा कंपनियां बंद कर दी गई थीं वहीं इस बार 81 कंपनियां बंद कर दी गई हैं. देहरादून से इनकी बंदी की फाइल तैयार कर केंद्रीय कारपोरेट मंत्रालय को भेज दी गई है. जल्द ही इसका नोटिफिकेशन जारी हो जाएगा.
आपको बता दें कि कारपोरेट कार्य मंत्रालय का रजिस्ट्रार एवं शासकीय समापन कार्यालय पहले कानपुर से चलता था. अक्तूबर 2018 में उत्तराखंड की कंपनियों के लिए अलग से दफ्तर खोल दिया गया था.

किस साल कितनी कंपनियां हुई बंद

वर्ष   –  बंद हुई कंपनियां
2017  –  787
2018  –  377
2019  –   81उत्तराखंड में कितनी कंपनियां

कुल पंजीकृत कंपनियां : 7866
कुल एक्टिव कंपनियां : 5393
(31 मार्च 2019 तक)

9 COMMENTS

  1. Thanks for every other informative site. Where else may I get
    that kind of info written in such an ideal means?
    I have a project that I’m simply now operating on, and I have been on the glance
    out for such info.

LEAVE A REPLY