तीसरी कक्षा के बच्चे ने प्रिंसिपल मैडम को लिखा लव लैटर तो मैडम ने दी ये सजा, जानकर रोंगटे खड़े हो जायेंगे

2
60

तीसरी कक्षा का बच्चा इतना होशियार हो गया है कि स्कूल की मैडम को लव लैटर लिखने लगा. तीसरी कक्षा के बच्चे की समझदारी आप अच्छी तरह से समझ सकते हैं कि इस उम्र में वो अपने स्कूल की मैडम से किस तरह से डरकर रहते हैं, तो ये बच्चा कैसे प्रिसिंपल को लव लैटर लिख सकता है. ऐसा हम नहीं बल्कि प्राइमरी स्कूल में जब दो बच्चों को बेंच से रस्सी से बंधा देखा गया तो पता चला तो उन पर ये आरोप लगाए गये.

छोटे बच्चों का हैरान कर देने वाला ये मामला आंध-प्रदेश के अनंतपुर जिले के कादिरी नगर पालिका में मासानम्पेट अपर प्राइमरी स्कूल का है. जहां दो बच्चों को बेंच में रस्सी से बंधा देखा गया. एक बच्चे पर क्लास में शोर मचाने की सजा मिली जबकि दूसरे प्रिंसिपल को लव लैटर लिखा था. जब बच्चों को स्कूल में ऐसी सजा मिलने पर जब बच्चों के माता-पिता को पता चला तो वो स्थानीए मीडिया से बात करने पहुंचे. मीडिया ने स्कूल प्रिंसिपल से बात की तो उन्होंने आरोपों को खारिज कर दिया. उल्टा प्रिंसिपल ने बच्चे के माता-पिता पर आरोप लगा दिया.

प्रिंसिपल का कहना है कि उनके माता-पिता ने अपने बच्चों को ऐसी सजा दी है. अब सवाल ये उठता है कि आखिर माता-पिता बच्चों को स्कूल में क्यों सजा  देंगे. हालांकि बच्चे ने जो लव लैटर लिखा उसके बारे में पता नहीं चला है कि आखिर किस गलती पर उन्हें ऐसी सजा दी गई.

आंध्र प्रदेश बाला हक्कुला संघ के अध्यक्ष अच्युत राव ने जिला कलेक्टर और राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (एनसीपीसीआर) के पास शिकायत दर्ज करवाई है. उन्‍होंने स्कूल प्रिंसिपल के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। जबकि जिला कलेक्टर ने भी घटना की जांच शुरू कर दी है. चाइल्ड वेलफेयर कमेटी की चेयरपर्सन नलनी राजेश्वरी ने भी इस बाबत कलेक्‍टर से मुलाकात की.

2 COMMENTS

  1. Simply wish to say your article is as astonishing.
    The clearness in your post is simply excellent and that i can assume you are an expert
    on this subject. Fine with your permission allow me to
    clutch your RSS feed to keep up to date with approaching post.
    Thank you 1,000,000 and please continue the enjoyable work.

LEAVE A REPLY