नैनीताल लोकसभा सीट के लिए बीजेपी में संग्राम.. कोश्यारी की बढ़ती उम्र से जवां हुए कई नेता

1
113
उत्तराखंड में 5 लोकसभा सीटें हैं उन्हीं में से एक है नैनीताल सीट,, जो काफी महत्वपूर्ण सीट मानी जाती रही है,, क्योंकि इसका असर आस-पास की अन्य सीटों पर भी हमेशा पड़ता रहा है,,,, मगर इस बार के लोकसभा चुनाव में नैनीताल लोकसभा से वर्तमान सांसद भगत सिंह कोश्यारी के चुनाव न लड़ने की खबरों के बीच बीजेपी के भीतर कई सारे टिकट के दावेदार सामने आ गए हैं… उत्तराखंड में कैबिनेट मंत्री यशपाल आर्य से लेकर विधायक बंशीधर भगत, राजकुमार ठुकराल, पूर्व सांसद बलराज पासी तक खुलेआम मीडिया में अपनी दावेदारी पेश कर रहे हैं।..
पूर्व मुख्यमंत्री और वर्तमान सांसद भगत सिंह कोश्यारी की बढ़ती उम्र ने नैनीताल-ऊधम सिंह नगर लोकसभा सीट पर बीजेपी के भीतर सिर फुटव्वल के हालात पैदा कर दिए हैं…कोश्यारी 76 बरस पार हो चुके हैं…लिहाजा वरिष्ठों को मार्गदर्शक बनाने की बीजेपी के परंपरा के मुताबिक कई नेता कोश्यारी के रिटायरमेंट में अपने लिए संभावनाएं तलाशने लगे हैं… यही वजह है कि बीजेपी में नैनीताल-ऊधम सिंह नगर लोकसभा सीट के 2019 के लिए एक- दो नहीं बल्कि कई दावेदार सामने आ गए हैं…
नैनीताल-ऊधम सिंह नगर पर बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट खुद नजरें बनाये हुए हैं,, और सबसे बड़े दावेदार खुद अजय भट्ट ही हैं,, विधानसभा चुनाव में मुख्यमंत्री पद के दावेदार रहे,, अजय भट्ट चुनाव हाकर फिलहाल पार्टी अध्यक्ष हैं, लेकिन उन्हें बड़े पद की चाहते हैं, लिहाजा वो सबसे बड़े और मजबूत दावेदार हैं।
नैनीताल सीट पर दूसरे बड़े दावेदार हैं कैबिनेट मंत्री यशपाल आर्य। यशपाल आर्य तो मीडिया के सामने खुलकर कहने लगे हैं कि वो रिजर्व सीट से ही चुनाव क्यों लड़ें, क्या वो सामान्य सीट से चुनाव नहीं लड़ सकते, इसलिये वो नैनीताल सीट से दावेदारी कर रहे हैं, और यशपाल आर्य भी यहां से मजबूत दावेदार हैं।
इनके अलावा पूर्व सांसद बलराज पासी, विधायक बंशीधर भगत, विधायक राजकुमार ठुकराल, विधायक पुष्कर धामी भी खुलकर अपने लिए बैटिंग कर रहे हैं, हालांकि इनमें भी पुष्कर धामी की स्थिति थोड़ी से मजबूत कही जा सकती है। खटीमा से विधायक धामी पार्टी के युवा चेहरे हैं, और केन्द्रीय नेृतृत्व में भी उनकी खासी पकड़ है। हालांकि इन सबके बीच वर्तमान सांसद भगत सिंह कोश्यारी असल में चुनाव लड़ने के इच्छुक हैं कि नहीं इस पर अंदरखाने संशय बना हुआ है… लेकिन चुनाव के ऐलान से पहले ही टिकट के दावेदारों ने लड़ाई को दिलचस्प बना दिया है।.

नीतू कमल

ये लेखकर के अपने विचार हैं।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY