सब-इंस्पेक्टर ने डिप्टी कलेक्टर को गुलाब देकर ट्रेफिक नियमों की दी चुनौती, डिप्टी साहिबा ने दिया ऐसा रिएक्शन

0
12

सरकार जनता के लिए तो तमाम नियम बनानी है ताकि कोई हानि ना हो सके, लेकिन खुद उन नियमों का इतना पालन करती हैं वो हम सब जानते हैं. ताजा मामला आरटीओ द्वारा 15 दिन से चलाये जा रहे अभियान में देखने को मिला. अभियान के तहत जो भी व्यक्ति अपनी गाड़ियों में किसी पदनाम, पार्टी या संस्था के झंडे या उस रंग का स्टीकर लगाता है तो उसका चालान काटा जायेगा. अभियान पर जोर डालते हुए अब तक 100 से ज्यादा लोगों चालान काटा गया वहीं अभी भी कुछ लोग सुधरने का नाम नहीं ले रहे हैं. हैरानी तो इस बात की है कि ये नियम तोड़ने वाला और कोई नहीं बल्कि सरकार के ही कर्मी हैं. जी हां…जब डिप्टी कलेक्टर की कार में स्टीकर लगा देख सब-इंस्पेक्टर ने उनकी गाड़ी रोकी तो उसके बाद जो हुआ,,,

 

जब वाहन चालक सरकार के इस नियम को हल्के में लेने लगे तो आरटीओ ने गांधीगिरी चलान चलाया. मतलब कि नियम का पालन ना करने वाले को गुलाब देकर समझाया जा रहा है ताकि वो खुद शर्मिंदा होकर दोबारा ऐसा ना करें. इस बीच डिप्टी कलेक्टर पुष्पा की कार भी आरटीओ रिंकू शर्मा ने रोकी और डिप्टी कलेक्टर को गुलाब देकर प्यार से कहा, मैडम आज तो हम आपका चालान नहीं काटेंगे लेकिन कार की नंबर प्लेट पर जो मप्र शासन लिखा है उसे प्लीज हटवा लें, नहीं तो अगली बार हमे मजबूरी में चालान काटने की कार्यवाही करने पड़ेगी.

 

 

रिंकू की इस बात को डिप्टी साहिबा ने बड़े ध्यान से सुना और मुक्कुरा कर गुलाब स्वीकार करते हुए कहा कि वो अगली बार ऐसी गलती की नौबत नहीं आने देगी. इससे पहले बीजेपी प्रमुख जयकरन सिंह कुशवाह की कार भी रोकी जा चुकी है जिन्होंने अपनी गाड़ी में पार्टी के स्टीकर लगाये हुए थे. जिस तरह से गांधी जी ने बिना हथियारों के अंग्रेजों का सामना किया ठीक उसी तरह सरकार भी जनता को समझाने में गुलाब का इस्तेमाल कर रही है. अब देखना होगा क्या जनता वाकई में गांधी के नियमों का पालन करती है या नहीं…

LEAVE A REPLY