उत्तराखंड- मां को ये बात बोलकर दिल्ली नौकरी करने गया था ‘तारा’, होटल में आग लगने से नहीं आया वापस

0
18

13 फरवरी की सुबह करीब 4 बजे दिल्ली के करोलबाग के अर्पित होटल में आग लगने से मातम पसर गया. लोगों को यकीन भी नहीं था कि वो जिस खुशी के साथ होटल में चैन की नींद सो रहे हैं अब हमेशा के लिए सोते ही रह जायेंगे. होटल में भयंनक आग लगने पर मौके पर 17 लोगों की मौत हो गई जबकि कई लोग खिड़कियों से छलांग भी लगाने लगे थे. जब तक लोगों की आंखें खुलती तब तक पूरा होटल आग में तबदील हो चुका था. इन 17 लोगों की मौत में एक उत्तराखंड का वो लड़का भी था जो अपनी मां से जल्दी वापस आने का वादा करके नौकरी करने गया था. देहरादून के रहने वाले इस लड़के का नाम तारा राम है जो कुछ दिन पहले ही अर्पित होटल में नौकरी करने आया था और अपनी नौकरी से बहुत खुश था, लेकिन लगता है उसकी खुशी को किसी की नजर लग गई. रोती हुई मां ने अपने बेटे की आपबीती सुनाई.

 

 

तारा राम की पूरा गांव तारीफ कर रहा है, गांव के कई लोगों का कहना है कि तारा शुरु से ही बहुत मेहनती थी. अपने शहर में नौकरी नहीं मिली तो दिल्ली जाकर बस गया और मौत से पहले मां से बात करके ही सोया था. बेटे की मौत की खबर सुनकर मां अपने आपको संभाल नहीं पा रही है और बार-बार यही कहे रही है कि उसके बेटे ने रात में उससे बात की थी और जल्दी घर वापस आने का वादा किया था.

LEAVE A REPLY