हार्ट से एलर्जी तक, मैदा के आइटम खाने से हो सकती हैं ये 5 बीमारियां

0
110

दलित समाज के समर्थन में कांग्रेस के एक दिवसीय उपवास के बीच एक तस्वीर सामने आई है। जिसमें दिल्ली कांग्रेस के अध्यक्ष अजय माकन, अरविंदर सिंह लवली और हारुन युसूफ कुछ पार्टी नेताओं के साथ रेस्टोरेंट में छोले-भटूरे खाते दिखाई दे रहे हैं। वैसे, भटूरे मैदा के बनते हैं जो सेहत के लिए नुकसानदायक होता है। इतना ही नहीं, मैदा से बनाने वाले आइटम फिर चाहे वो बिस्किट ही क्यों ना हो, सेहत को नुकसान पहुंचाते हैं। ऐसे में मैदा खाने से बचना चाहिए। मैदा को धीमा जहर भी कहा जाता है।

# ये है एक्सपर्ट का कहना

मैदा से जुड़े नुकसान के बारे में ESIC मॉडल हॉस्पिटल के डॉ प्रकाश तारे से बात की। डॉ प्रकाश के मुताबिक मैदा सेहत को धीरे-धीरे नुकसान पहुंचाता है। इसे आसानी से डाइजेस्ट नहीं किया जा सकता। साथ ही, इससे मेटाबॉलिज्म भी खराब होता है। मैदा से जुड़े आइटम स्वादिष्ट होते हैं, ऐसे में जरूरी है कि इन आइटम का सेवन कम किया जाए। हो सके तो छोटे-भटूरे जैसे आइटम को सप्ताह में एक दिन खाएं।

# क्या होता है मैदा?

मैदा एक परिष्कृत गेहूं का आटा है, जिसमें से फाइबर खत्म कर दिए जाते है। इसके बाद इसे बेंजोईल पेरोक्साइड से ब्लीच किया जाता है। फिर इसको साफ और सफेद रंग और टैक्स्चर दिया जाता है। यूरोपियन देशों के साथ चीन में बेंजोईल पेरोक्साइड को बैन किया जा चुका है।

# हार्ट की बीमारी

ज्यादा मैदा खाने से ब्लड शुगर बढ़ने लगता है, जिससे खून में ग्लूकोज जमने लगता है। जिसके चलते बॉडी में केमिकल रिएक्शन शुरू हो जाते हैं और हार्ट से जुड़ी बीमारियां होने की संभावना तेजी से बढ़ने लगती है। इतना ही नहीं, गठिया की बीमारी भी हो सकती है।

LEAVE A REPLY