पोस्टमॉर्टम के वक्त डेड बॉडी से निकलती हैं चीखने-चिल्लाने की आवाजें, डॉक्टरों के तक रोंगते खड़े हो जाते हैं

0
34

मरना तो हर व्यक्ति को है लेकिन शायद मरने से व्यक्ति को डर नहीं लगता होगा जितना मरने के बाद होने वाले कामों से लगता है. हिंदू धर्म में मरने के बाद व्यक्ति का अंतिम संस्कार ही डेड बॉडी के सिर पर डंडा मारकर करने की वजह से प्रसिद्ध है तो वहीं मरने के बाद पोस्टमॉर्टम के वक्त डेडबॉडी से अजीबगरीबों आवाजें निकलने की वजह से भी प्रसिद्ध है. वैसे तो पोस्टमॉर्टम अज्ञात शवों का ही किया जाता है जिनके मौत का कारण पता नहीं चल पाता है. ऐसे में जब डेड बॉडी का पोस्टमॉर्टम किया जाता है तो डेड बॉडी से चीखने-चिल्लाने की आवाजें आने लगती हैं. उस वक्त डॉक्टरों के भी रोंगते खड़े हो जाते हैं.

 

वैसे तो डॉक्टरों को शव का पोस्टमॉर्टम करते वक्त डर नहीं लगता है क्योंकि पढ़ाई के साथ उन्हें शव का पोस्टमॉर्टम करना भी सिखाया जाता है, ऐसे में उनका डर निकल जाता है लेकिन कई बार डेड बॉडी से ऐसी आवाजें निकलती हैं कि उनके पैरों तले जमीन खिसक जाती है. डॉक्टरों का मानना है कि कई बार डेड बॉडी से चीखने-चिल्लाने या फिर करहाने की आवाजें निकलती हैं.

 

उनका मानना है कि ये आवाजें डेड बॉडी के अंदर गैस बनने पर निकलती हैं. जो आम बात है लेकिन आवाजें ऐसी लगती हैं कि जैसे सच में किसी व्यक्ति पर जुर्म किये गये हैं और उसकी आत्मा को शांति नहीं मिल पा रही है वो तड़प रही हो, पहली बार अगर कोई व्यक्ति सुन लें तो वो जरूर यहीं सब सोचेगा.

LEAVE A REPLY