70 की उम्र में जवान दिखने के लिए लोग इस जड़ी बूटी के अर्क का कर रहे हैं सेवन, गजब का है ये अर्क

1
32

दिनभर की भागदौड़ में लोग अपने खाने-पीने का ध्यान नहीं दे पाते हैं. जिसकी वजह से उनके शरीर में पोषण तत्वों की कमी होती जा रही है. यही कमी व्यक्ति को बीमारियों का शिकार बना देती है एक समय के बाद व्यक्ति का काम करना भी मुश्किल हो जाता है, उसकी हड्डिया जबाव देने लगती हैं. अगर आपको भी लगता है कि आपके पास सही तरह से खाने-पीने का समय नहीं है तो आज हम आपको एक ऐसी जड़ी बूटी के अर्क के बारे में बताने जा रहे हैं. जिसे इस्तेमाल करने के बाद आप 50 की उम्र में भी जवां नजर आयेंगे.

हम जिस जड़ी बूटी के अर्क की बात कर रहे हैं उसका नाम शल्लकी है. शल्‍लकी को भारत और इससे लगे अन्‍य देशों में लोबान के नाम से जाना जाता है. शल्‍लकी को गोंद भी कहे सकते है जिसे बोसवेलिया सेराटा (Boswellia Serrata) के पेड़ से प्राप्‍त किया जाता है. इस औषधी को लोबान का तेल (Frankincense oil) के नाम से भी जाना जाता है जो बुसेरेसिया पौधों के परिवार से संबंधित है. यह इन पेड़ों के तनों से राल के रूप में प्राप्‍त अर्क होता है. इस प्रकार से प्राप्‍त होने वाली लोबान में ऐसे घटक मौजूद होते हैं जो व्यक्ति को स्वस्थ्य रखते हैं.

इसमें मौजूद एंटी एजिंग एवं एंटी ऑक्‍सीडेंट्स शरीर को स्वस्थ रखने और बुढ़ापे के असर को कम करने का काम करते हैं. ये डायबिटीज समेत कई दूसरी बीमारियों के लिए भी लाभकारी है. शल्लकी अर्क त्वचा की गंदगी के साथ आपके त्वचा पर झुरियां और दाग-धब्बे भी नहीं आने देते हैं.

शल्लकी एक ऐसी दवा है जो व्यक्ति की दिनभर की थकान और तनाव को दूर कर व्यक्ति को फुर्तिला बनाता है. शल्लकी अर्क से हड्डियां के दर्द, पेट की ऐठन, सूजन से छुटकारा मिलता है. इसके अलावा गर्मियों में ज्यादातर लोग सिर दर्द से परेशान रहते हैं उनके लिए ये दवा किसी रामबाण से कम नहीं है. साथ ही कैंसर के मरीजों को भी इस दवा का जरूर सेवन करना चाहिए. कैंसर को जड़ से खत्म करने और विकास होने से रोकता है.

1 COMMENT

LEAVE A REPLY