लड़की को अकेला देख रेप करने की कोशिश में था लड़का, लड़की ने ये 3 शब्द बोलकर रेप होने से बचा लिया

1
40

अगर अपने आपको हैवानों से बचाने के लिए लड़कियां खुदका दिमाग इस्तेमाल करने लगे तो शायद झूठे दावे करने वाली सरकार की सुरक्षा और कैमरों की जरूरत भी नहीं पड़ेगी. दिल्ली, मुंबई जैसे बड़े शहरों के साथ छोटे शहरों में भी लड़कियों का शाम के 8 बजे के बाद घर से निकलना हैवानों का शिकार होना है. ना जाने कब कौन-सी लड़की के साथ क्या हो जाये कुछ कहा नहीं जा सकता है. लड़कियां भी पूरी होशियारी के साथ घर से बाहर निकलती ही है लेकिन इतने दिमाग के साथ भी घर से बाहर निकलती हैं वो शायद पहली बार सुना जा रहा है. एक 29 वर्षीय विधवा महिला को अकेला देख युवक ने उसके साथ रेप करने की कोशिश की तभी महिला ने ऐसे तीन शब्द बोल दिये कि आरोपी लड़का भागते नजर आया.

 

हैवानों की हैवानियत तो देखिये एक विधवा महिला पर भी अब तरस नहीं रह गया है. महाराष्ट्र के औरंगाबाद की रहने वाली महिला के पति की मौत हो जाने के बाद महिला पर जिम्मेदारियां बढ़ गई थीं. महिला को अक्सर घर से बाहर काम के सिलसिले में जाना पड़ जाता था. एक दिन जब वो अपने सात साल की बेटी के साथ शहर की एक दुकान पर सामान लेने गई थी. वापस आने पर उसके पास सिर्फ 10 रुपये ही बचे थे. जिसके बाद उसने शेयरिंग ऑटो से जाना चाह लेकिन शेयरिंग ऑटो मिल नहीं पाये. जिसके बाद महिला रोड के एक साइड खड़ी होकर लिफ्ट मांगने लगी.

 

महिला को अकेला देख एक मोटरसाइकल वाले युवक ने उसे लिफ्ट दी और उसे घर ले जाने के बाजये किसी सुनसान रास्ते पर ले गया. युवक महिला के साथ रेप करने ही जा रहा था तभी महिला ने कहा कि मुझे एचआईवी पॉजिटिव है. जिसके बाद आरोपी युवक उसे वहीं छोड़कर भागते नजर आया. महिला ने पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई. पुलिस ने कैमरे की मदद से आरोपी युवक को गिफ्तार किया.

1 COMMENT

LEAVE A REPLY