हनुमा की पारी नहीं देखी तो कुछ नहीं देखा…दुनिया में हो रही जय-जय कार

0
80

इंग्लैंड में ओवल की विकेट पर कैसे भारतीय बल्लेबाज बेदम होते चले गए..ये पूरी दुनिया ने देखा…विराट कोहली को छोड़ दिया जाए..तो बाकी सारे पहले पायदान के बल्लेबाज एक एक कर ढेर हो गए…के एल राहुल..हो या धवन…पुजारा हो या फिर रहाणे…सब अंग्रेजों की गेंदबाजी के आगे पस्त हो गए…इवन उपकप्तान रहाणे तो बिना खाता खोले ही चलते बने….मगर हनुमा विहारी ने दिखा दिया कि क्यों वो नेशनल टीम में चुने गए हैं….हनुमा ने अपने पहले डेब्यू मैच में ही बल्ले से जादू बिखेरा…उसी पूरी दुनिया ने देखा…हनुमा विहारी ने अपने पहले टेस्ट मे जिस अंदाज से बैटिंग की…उससे अगड़ी पारी के बल्लेबाजों को काफी कुछ सीखने की जरूरत है….पांचवे और आखिरी टेस्ट के दूसरे दिन हनुमा विहारी जहां 28 रन बनाकर नाबाद रहे…वही तीसरे दिन की शुरुआत से ही विहारी ने इंग्लैंड पर दबाव बना दिया…. विहारी ने शानदार बैटिंग करते हुए ना सिर्फ अपना पहला इंटरनेशनल पचासा पूरा किया….ब्लकि ओवल की विकेट पर 7 शानदान चौके और एक गगनचुंबी छक्का भी मारा….हनुमा विहारी आखिर तक डटे रहे…लड़ते रहे…मगर फिर मोइन अली की बॉल पर गच्चा खा गए…और जॉनी बेयरेस्टों के हाथों में अपना विकेट कैच करा बैठे….हालांकि हनुमा यहां भी टूटे नहीं…हनुमा ने एक और डीआरएस लिया…मगर इस बार हनुमा को पवेलियन लौटना पड़ा….हनुमा 124 बॉल पर 56 रन ठोंककर भारत की नसों में खून भर गए….मैच का नतीजा जो भी रहे…मगर हनुमा विहारी की ये शानदार पारी की पूरी दुनिया में जयजय कार हो रही है….

LEAVE A REPLY