आखिर क्यों बार-बार जया प्रदा का साथ देने आ जाते हैं अमर सिंह, दोनों के बीच हैं ऐसे संबंध

0
26

चुनावी माहौल में नेता लगातार एक-दूसरे पर तंज और गलत संबंधों का आरोप लगा रहे हैं. जिसकी शिकार अभिनेत्री और बीजेपी उम्मीदवार जया प्रदा भी बनी. बीजेपी उम्मीदवार जया प्रदा रामपुर से मुकाबला लड़ रही हैं. इस बीच आजम खान जब रामपुर में जनसभा को आयोजित करने पहुंचे तो उन्होंने पार्टी का गुणगान बाद में पहले जया प्रदा पर निशाना साधा. उन्होंने जया को लेकर अभ्रद टिप्पणी कर दी. जिसे सुनने के बाद सपा नेता अमर सिंह सहे ना सके और उन्हें राक्षस कहे डाला.

 

अमर सिंह ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि महिलाओं के खिलाफ ऐसी अभ्रद टिप्पणी करने वाले लोग किसी राक्षस से कम नहीं होते हैं. आपको बता दें अमर सिंह पहली बार नहीं बल्कि इससे पहले कई बार जया प्रदा के दुश्मनों को ऐसे ही मुंह तोड़ जबाव देते रहे हैं. अब अमर का बार-बार जया का साथ देना लोगों को कुछ खल नहीं रहा है. सोशल मीडिया पर अमर और जया की आपत्तिजनक बनाकर वायरल हो चुकी हैं. ऐसे में जया को अपना अमर का रिश्ता बताना जरूरी हो गया.

जया ने कहा कि मैं अमर सिंह का अपना गॉडफाडर मानती हूं. आज हमें राजनीति में जगह उन्हीं की वजह से मिली है और ये सब जानते हैं लेकिन इसका मतलब हमारा गलत रिश्ता नहीं है. मैं अगर अमर सिंह के राखी भी क्यों ना बांध दूं लेकिन लोग फिर भी हमारा और अमर सिंह का रिश्ता गलत ही बताते हैं. जया ने बताया कि अमर सिंह की तरह मेरे जीवन में कई लोगों ने मेरी मदद की.

जया प्रदा 1994 में तेलुगू देशम पार्टी में शामिल हो गईं. साल 2000 में वो तेदेपा छोड़कर समाजवादी पार्टी में शामिल हुईं. जब अमर सिंह समाजवादी पार्टी से अलग हुए तो जया भी उनके साथ अलग होकर राष्ट्रीय लोकदल पार्टी में शामिल हो गईं और चुनाव हार गईं। अब वह भाजपा में शामिल हो गई हैं और रामपुर लोकसभा सीट से प्रत्याशी हैं.

LEAVE A REPLY