लापता विमान और नंदा देवी पर्वत पर फंसे 21 लोगों के लिए लोग कर रहे दुआएं

0
129

जब आगे कुआं और पीछे खाई होती है तो दुआ ही काम आती है ऐसा ही कुछ हाल एएन-32 एयरक्राफ्ट में 5 जवानों समेत 13 लोग हों और दूसरी तरफ उत्तराखंड के नंदा देवी पर्वत पर फंसे 8 पर्वतारोहण. एक तरफ इन 21 लोगों को खोजने के लिए भारतीय सेना रेस्यू अभियान चला रही है तो दूसरी तरफ पूरा देश दुआं कर रहा है, हालांकि नंदादेवी पर्वत को फतहा करने निकले इन 8 लोगों में 5 लोगों की मौत की जानकारी मिल चुकी है लेकिन अभी 3 लोगों लापता हैं, वहीं असम के जोरहाट से अरुणाचल के लिए उड़ान भरने वाले एएन-32 एयरक्राफ्ट में मौजूद 13 लोगों का पता नहीं चल पा रहा है.

 

13 मई को भारत की दूसरी चोटी नंदादेवी शिखर को फतह करने दुनिया के जाने-माने पर्वतारोही मार्टिन मोरन की अगुवाई में ब्रिटेन, अमेरिका और आस्ट्रेलिया के 8 लोगों का एक दल निकला था, लेकिन साढ़े पांच हजार मीटर चढ़ाई के बाद इस दल का संपर्क टूट गया. जिसके बाद ये दल बर्फ पर इतनी ऊंचाई पर एवलॉच की चपेट में आ गया जिसके बाद इन आठ लोगों में से 5 की मौत और 3 के लापता होने की जानकारी मिली थी. इन शवों को निकालने के लिए तीन दिन से लगातार हवाईजहाज उड़ान भर रहे हैं लेकिन मौसम खराबी की वजह से हेलीकॉप्टर को वापस लौटना पड़ा रहा है.

 

दूसरी तरफ 3 जून को एयरफोर्स का यह ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट असम के जोरहाट से अरुणाचल के लिए उड़ान भरने निकला था और अब तक वापस नहीं लौटा. इस प्लेन में भी 5 जवान समेत 13 लोग सवार थे. गायब विमान और पर्वतारोही को ढूंढने में सेना पूरी कोशिश कर रही है.

LEAVE A REPLY