सबके सुख-दुख में शामिल होने वाले अभिनेता के अंतिम संस्कार में नहीं पहुंचा एक भी सेलिब्रिटी, वजह जानकर दंग रह जायेंगे

1
107

बेहद हैरानी की बात है कि 10 से ज्यादा राष्ट्रीय पुरस्कार पाने वाले दिग्गज अभिनेता, लेखक गिरीश कर्नाट के अंतिम संस्कार में एक भी सेलिब्रिटीज नहीं पहुंचा. फिल्मों के जाने-माने अभिनेता गिरीश कर्नाट का 10 जून को निधन की खबर सुनते ही तमाम सेलिब्रिटीज और दिग्गजों ने सोशल मीडिया पर भावुक पोस्ट लिखकर उन्हें श्रद्धांजलि दी लेकिन उनके अंतिम संस्कार में एक भी सेलिब्रिटीज या अधिकारी नहीं पहुंचा. गिरीश के घर में परिजनों की भीड़ लगी रही लेकिन कोई एक भी सेलिब्रिटीज उनके यहां नहीं दिखा. जानिए आखिर क्या वजह थी.

तस्वीरों में देख सकते हैं गिरीश कर्नाट का अंतिम संस्कार बहुत साधारण तरीके से बिना किसी भीड़ के किया गया. दरअसल गिरीश कर्नाट ने अपने बेटे से कहा था कि उनका अंतिम संस्कार बहुत साधारण करें. कोई सेलिब्रिटीज या अधिकारियों की भीड़ ना लगे. गिरीश की इस इच्छा पर उनका ऐसा अंतिम संस्कार किया गया. उनके शव को इलैक्ट्रिक शवदाहगृह में पहुंचाया गया.

81 वर्षीय गिरीश कर्नाट काफी समय से बीमार चल रहे थे. ज्यादा तबियत खराब होने पर उन्हें अस्पताल पहुंचाया गया जहां उन्होंने दम तोड़ दिया.

गिरीश ने पहली फिल्म 1974 में आई ‘जादू का शंख’ से बॉलीवुड में कदम रखा था. गिरीश ने बॉलीवुड फिल्म निशांत (1975), शिवाय और चॉक एन डस्टर में भी काम किया था और आखिरी बार वो सलमान की फिल्म टाइगर जिंदा है में नजर आये थे.

गिरीश का जन्म एक कोंकणी परिवार में हुआ था. कर्नाड ने 1958 में धारवाड़ स्थित कर्नाटक विश्वविद्यालय से ग्रेजुएशन किया. इसके बाद वे एक रोड्स स्कॉलर के रूप में इंग्लैंड चले गए. वे शिकागो विश्वविद्यालय के फुलब्राइट महाविद्यालय में विज़िटिंग प्रोफेसर भी रहे.